रोज डे पर गुलाब देने का प्रचलन है | एक गुलाब जो प्रेम का प्रतीक है बहुत कुछ मौन हो कर भी कह देता है | आइये सुने इसकी भाषा

रोज डे - गुलाब पर 21 सुविचार


                             गुलाब जो प्रेम का प्रतीक माना जाता है वो किसे पसंद नहीं होगा |  रोज डे पर गुलाबों का देना प्रेम का इज़हार माना जाता है | इस दिन दिए जाने वाले गुलाब भी तीन रंगों के होते हैं |
सफ़ेद गुलाब जान पहचान के लिए
पीले गुलाब -दोस्ती के लिए
लाल गुलाब - प्रेम के लिए
                                  यूँ तो गुलाब बहुत खूबसूरत होता है पर उसके साथ कांटे भी होते हैं | काँटों से घिरे हो कर भी खुशबु बिखेरना गुलाब की  खासियत है | आज रोज डे पर हम आपके लिए लाये हैं गुलाब पर सुविचार...

 गुलाब पर 21 सुविचार 



ये आप पर है की आप शिकायत करें की गुलाब के साथ कांटे होते हैं या ख़ुशी व्यक्त करे की काँटों के साथ गुलाब भी होते हैं |
--------------------------

लाल गुलाब मौन रह कर भी प्रेम की वो भाषा बोलता है जिसे केवल दिल सुन  सकता है |
---------------------------

एक गुलाब की सुन्दरता व् सुंगंध केवल कुछ क्षण ही ठहरती है पर इसकी यादें हमेशा महकती रहती हैं |
-----------------------------------


एक गुलाब कभी सूरजमुखी की तरह खूबसूरत नहीं हो सकता न ही एक सूरज मुखी कभी गुलाब की तरह खूबसूरत  दिख सकता है , दोनों की अपनी सुन्दरता है \

------------------------------------

जो लोग गुलाब को सच में प्यार करते हैं वो उसे उसके तने पर ही छोड़ देते हैं |
_________________________________

गुलाब उतना खूबसूरत नहीं लगता जब एक बार उसके कांटे आप के हाथ में चुभ जाते हैं |
-------------------------------------------------------------------


नाम में क्या रखा है , अगर आप गुलाब को कुछ और कहेंगे तब भी वो उतनी ही खुशबू देगा - शेक्सपीयर 



रोज डे -गुलाब पर सुविचार


बनना है तो गुलाब की तरह बनो यह उनके हाथों में भी खुशबू छोड़ देता है जो इसे मसल देते हैं |

----------------------------

गुलाब को कभी अपना प्रचार करने की जरूरत नहीं पड़ती | इसकी खुशबू खुद ही सबको खींच कर ले आती है |
---------------------------------


गुलाब उस भाषा में बात करता है जिसे केवल दिल समझ सकता है |

________________________

शब्द गुलाब की तरह होते हैं इन्हें अपनी खुशबु  और सुन्दरता के साथ पूरी दुनिया में बिखेर देने  दो |
--------------------------------------

जो गुलाब से प्यार करता है उसमें धैर्य अवश्य होगा और काँटों का सामना करने का साहस भी |

_______________________________

मैं अपने गले में हीरों का हार पहनने की अपेक्षा अपनी मेज पर गुलाब के फूल रखना ज्यादा पसंद करुँगी |

मित्रता एक खिलता हुआ गुलाब है जिसके हर तह में खुशबु और रंग बसे हुए हैं |


रोज डे - गुलाब पर सुविचार



गुलाब के कांटे भी उन्हीं के लिए हैं जो उससे प्यार करते हैं |

_________________________________

गुलाब और कांटे उसी तरह से जुड़े हुए हैं जैसे खुशियाँ और दुःख |

__________________________________________

काँटे कभी गुलाब को नुक्सान नहीं पहुंचाते ये केवल उनको नुक्सान पहुंचाते हैं जो उसकी सुन्दरता हरना  चाहते हैं |
________________________________

गुलाब झड जाते हैं पर कांटे बने रहते हैं |
_________________________________________



गुलाब  के खिलने का कोई स्पष्टीकरण नहीं है वो खिलता है , क्योंकि वो खिलता है ... क्या ये एक सार्थक सन्देश नहीं है ?
__________________________________________


सत्य और गुलाब , दोनों के कांटे की तरह चुभते  हैं |

___________________________________________

गुलाब की तरह अपने गुणों  से  सारे संसार  को जीत लो 



गुलाब के झड़ते हुए पत्तों को देख कर दुखी न हो , जिंदगी में दुबारा खिलने के लिए झड़ना ही पड़ता है |
_______________________________________

जिंदगी के आखिरी सफ़र का साथी गुलाब ही है |


टीम ABC


यह भी पढ़ें .........


वैलेंटाइन डे - आई लव यू यानि जादू की झप्पी


प्रेम के रंग हज़ार - जो डूबे सो हो पार

वैलेंटाइन दिवस को पारिवारिक एकता दिवस के रूप में मनाएं





 आपको  लेख " रोज डे - गुलाब पर 21 सुविचार   " कैसा लगा  | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको "अटूट बंधन " की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम "अटूट बंधन"की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें |   


Share To:

Atoot bandhan

Post A Comment:

1 comments so far,Add yours