अपने शब्दों पर ध्यान दें 
कहे गए शब्द 
सुनने वालों के ह्रदय में 
जो घाव कर देते हैं 
वो सालों साल नहीं भरते 

जबकि कहने वाले को अपने शब्द 
याद तक नहीं रहते 
Share To:

atoot bandhan

Post A Comment:

0 comments so far,add yours