रिश्ते हम सब के लिए अनमोल हैं | पढ़िए रिश्तों को सँभालते सहेजते 21 सर्वश्रेष्ठ विचार जो आपके रिश्तों में नयी जान डाल देंगे |

रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ विचार


  रिश्ते , रोटी कपडा और मकान  के बाद हमारी सबसे बड़ी जरूरत हैं | ये रिश्ते हमें भावनात्मक स्थिरता देते हैं |हम सब जन्म से ले कर मृत्यु  तक ढेरों रिश्ते बनाते हैं | पर उनमें सच्चे रिश्ते कुछ ही होते हैं | जितनी जल्दी हम इन रिश्तों को पहचान लें हमारा जीवन उतना ही आसान हो जाता है | परन्तु हम अच्छे बुरे रिश्तों में उलझते ही रहते हैं |तकलीफ होती है |दरसल   हम सब अपने रिश्ते को संभल कर रखना चाहते हैं | उन्हें खूबसूरत बनाना चाहते हैं |उस प्रयास में कभी सफल होते हैं कभी असफल |इन्हीं रिश्तों को संभलने,सहेजने आज हम आपके लिए ले कर आये हैं 



रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ  विचार 



1)रिश्तों का न होना उतनी तकलीफ नहीं देता है जितना उनके होते हुए अहसासों का मर जाना |



2 )लोग ये भूल जायेंगे की आपने उन्हें क्या कहा पर वो हमेशा ये याद रखेंगेकी आपने उन्हें कैसा महसूस कराया |


3)मुफ्त में सिर्फ माता - पिता का प्रेम ही मिलता है बाकी रिश्ते निभाने के लिए कीमत चुकानी पड़ती है | 

4 )रिश्ते कांच की तरह होते हैं जिन्हें बहुत संभल कर रहने की जरूरत होती है |


5)हम अक्सर किसी की सलाह इस लिए नहीं मान पाते क्योंकि जिस  व्यक्ति ने सलाह दी थी उसका कहने का अंदाज बहुत असहानभूति  पूर्ण था | 


6)लोग आप के साथ कैसा व्यवहार करते हैं ये उनके कर्म हैं | आप उस पर कैसे रियेक्ट करते हैं ये आपके कर्म हैं |


7)अगर आप किसी को प्यार करते हैं तो उसे स्वतंत्र छोड़ दें | अगर वो वापस आया तो वो आपका है , अगर नहीं आया तो वो कभी आपका था ही नहीं |



कुछ रिश्ते टूटे हुए कांच की तरह होते हैं जिन्हें जोड़ने की कोशिश में बार बार चोट पहुँचती है | 




8)ये सच है की हर कोई आपको चोट देने के लिए बैठा है | इसलिए अपने रिश्तों में ध्यान से चुनिए जिनकी दी हुई चोट को बर्दाश्त करने लायक  हो |


9)एक दिन हम सब एक दूसरे को ये सोंच कर खो देंगे की वो मुझे याद नहीं करता तो मैं क्यों करूँ |


10)अपने संबंधों को बारिश की तरह न बनाये की जो आई और गयी बल्कि हवा की तरह बनाये जो हमेशा साथ – साथ रहे |


11)जहाँ हर बार सफाई देनी पड़ जाए वो रिश्ते कभी गहरे नहीं होते |


12)रिश्तों की डोर तब कमजोर पड़ती है जब इंसान गलत फहमी में अपने सवालों के जवाब खुद ही बना लेता है |


13)ये सच है की अपनों के साथ वक्त का पता नहीं चलता पर ये भी सच है की अपनों का पता भी वक्त के साथ ही चलता है |

14)जो आपसे दिल से बात करता हो उसे दिमाग से कभी जवाब नहीं देना चाहिए |


मनुष्य को बोलने में तीन साल लगते हैं | लेकिन रिश्ते निभाना सीखने में साड़ी जिंदगी लग जाती है | 


15)किसी रिश्ते को तोड़ने से पहले एक बार अपने आप से पूँछ लीजिये की आखिर अभी तक उसे निभा क्यों रहे थे |


16)ढूँढने पर वही रिश्ते वापस मिलेंगे जो खो गए थे | जो बदल गए थे वो कभी भी नहीं मिलेंगे |


17)हमेशा गलतियों से ही नहीं शक से भी रिश्ते खत्म हो जाते हैं |


18)पौधों की तरह होते हैं रिश्ते , लगा कर भूल जाओ तो दोनों सूख जाते हैं |


19)अगर दो लोगों की कभी लड़ाई न हो तो समझ लेना की रिश्ता मन से नहीं दिमाग से निभाया जा रहा है |


जब रिश्तों में बार - बार झूठ बोलना पड़े तो समझो रिश्तों में दरार  आने वाली है | 


२०)अच्छे रिश्तों का हमारे जीवन में होना हमारे भाग्य की बात है पर उन्हें संभल कर रखना हमारे हुनर की बात है |


21)जीवन में ढेर सारे रिश्ते जरूरी नहीं , जरूरी है की जो रिश्ते हैं उनमें जीवन हो |


टीम abc


 आपको  लेख "रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ विचार "  कैसा लगा  | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको "अटूट बंधन " की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम "अटूट बंधन"की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें 

Share To:

Atoot bandhan

Post A Comment:

0 comments so far,add yours