रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ विचार

3
450
रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ विचार
  रिश्ते , रोटी कपडा और मकान  के बाद हमारी सबसे बड़ी जरूरत हैं | ये रिश्ते हमें भावनात्मक स्थिरता देते हैं |हम सब जन्म से ले कर मृत्यु  तक ढेरों रिश्ते बनाते हैं | पर उनमें सच्चे रिश्ते कुछ ही होते हैं | जितनी जल्दी हम इन रिश्तों को पहचान लें हमारा जीवन उतना ही आसान हो जाता है | परन्तु हम अच्छे बुरे रिश्तों में उलझते ही रहते हैं |तकलीफ होती है |दरसल   हम सब अपने रिश्ते को संभल कर रखना चाहते हैं | उन्हें खूबसूरत बनाना चाहते हैं |उस प्रयास में कभी सफल होते हैं कभी असफल |इन्हीं रिश्तों को संभलने,सहेजने आज हम आपके लिए ले कर आये हैं 



रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ  विचार 



1)रिश्तों का न होना उतनी तकलीफ नहीं देता है जितना उनके होते हुए अहसासों का मर जाना |
2 )लोग ये भूल जायेंगे की आपने उन्हें क्या कहा पर वो हमेशा ये याद रखेंगेकी आपने उन्हें कैसा महसूस कराया |


3)मुफ्त में सिर्फ माता – पिता का प्रेम ही मिलता है बाकी रिश्ते निभाने के लिए कीमत चुकानी पड़ती है | 

4 )रिश्ते कांच की तरह होते हैं जिन्हें बहुत संभल कर रहने की जरूरत होती है |


5)हम अक्सर किसी की सलाह इस लिए नहीं मान पाते क्योंकि जिस  व्यक्ति ने सलाह दी थी उसका कहने का अंदाज बहुत असहानभूति  पूर्ण था | 


6)लोग आप के साथ कैसा व्यवहार करते हैं ये उनके कर्म हैं | आप उस पर कैसे रियेक्ट करते हैं ये आपके कर्म हैं |


7)अगर आप किसी को प्यार करते हैं तो उसे स्वतंत्र छोड़ दें | अगर वो वापस आया तो वो आपका है , अगर नहीं आया तो वो कभी आपका था ही नहीं |



कुछ रिश्ते टूटे हुए कांच की तरह होते हैं जिन्हें जोड़ने की कोशिश में बार बार चोट पहुँचती है | 





8)ये सच है की हर कोई आपको चोट देने के लिए बैठा है | इसलिए अपने रिश्तों में ध्यान से चुनिए जिनकी दी हुई चोट को बर्दाश्त करने लायक  हो |


9)एक दिन हम सब एक दूसरे को ये सोंच कर खो देंगे की वो मुझे याद नहीं करता तो मैं क्यों करूँ |


10)अपने संबंधों को बारिश की तरह न बनाये की जो आई और गयी बल्कि हवा की तरह बनाये जो हमेशा साथ – साथ रहे |


11)जहाँ हर बार सफाई देनी पड़ जाए वो रिश्ते कभी गहरे नहीं होते |


12)रिश्तों की डोर तब कमजोर पड़ती है जब इंसान गलत फहमी में अपने सवालों के जवाब खुद ही बना लेता है |


13)ये सच है की अपनों के साथ वक्त का पता नहीं चलता पर ये भी सच है की अपनों का पता भी वक्त के साथ ही चलता है |

14)जो आपसे दिल से बात करता हो उसे दिमाग से कभी जवाब नहीं देना चाहिए |


मनुष्य को बोलने में तीन साल लगते हैं | लेकिन रिश्ते निभाना सीखने में साड़ी जिंदगी लग जाती है | 



15)किसी रिश्ते को तोड़ने से पहले एक बार अपने आप से पूँछ लीजिये की आखिर अभी तक उसे निभा क्यों रहे थे |


16)ढूँढने पर वही रिश्ते वापस मिलेंगे जो खो गए थे | जो बदल गए थे वो कभी भी नहीं मिलेंगे |

17)हमेशा गलतियों से ही नहीं शक से भी रिश्ते खत्म हो जाते हैं |


18)पौधों की तरह होते हैं रिश्ते , लगा कर भूल जाओ तो दोनों सूख जाते हैं |


19)अगर दो लोगों की कभी लड़ाई न हो तो समझ लेना की रिश्ता मन से नहीं दिमाग से निभाया जा रहा है |


जब रिश्तों में बार – बार झूठ बोलना पड़े तो समझो रिश्तों में दरार  आने वाली है | 



२०)अच्छे रिश्तों का हमारे जीवन में होना हमारे भाग्य की बात है पर उन्हें संभल कर रखना हमारे हुनर की बात है |


21)जीवन में ढेर सारे रिश्ते जरूरी नहीं , जरूरी है की जो रिश्ते हैं उनमें जीवन हो |

टीम abc

 आपको  लेख “रिश्तों पर 21 सर्वश्रेष्ठ विचार ”  कैसा लगा  | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको “अटूट बंधन “ की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम “अटूट बंधन”की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें 

3 COMMENTS

  1. bahut hi acchi quotes likhi hain aapne relationships par. yah sach hai ki rishton ko banane ke liye sabse badi jarurat pyar aur trust ki hi hoti hai. bina vishwas ke koi rishta kamyab nahi hota.

    • 👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌
      आप के 21 मूल मंत्र बहुत अच्छे हैं ।
      भगवान कहते हैं स्वर्ग और नर्क यहीं पर है अगर आपकी 21 बातों पर गौर किया जाए तो स्वर्ग बन सकता है ।
      🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here