पवित्र बाइबल के अनमोल विचारों को पढ़ कर अपने जीवन में उतारें | ये आपके जीवन को सही दिशा अवश्य देंगे |

जीवन को दिशा देते बाइबल के 21 अनमोल विचार


पवित्र धार्मिक पुस्तक बाइबल हमारे जीवन को सही दिशा दिखाती है | ये ईश्वर की भाषा है | बाइबल इंसानों को एक अच्छी व् सच्ची राह पर चलने की प्रेरणा देती है | बाइबल किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं लिखी गयी है | समय – समय पर महान संतों ने ईश्वर के आदेशानुसार इसका सृजन किया है |प्राप्त जानकारी  के अनुसार बाइबल 40 लेखकों द्वारा करीब 1500 साल पहले लिखी गयी हैं दूसरे धार्मिक लेखों की बजाय बाइबल यथार्थ समाचारों , घटनाओं , स्थान लोगों और उनकी बातचीत का विवरण देती है | समय - समय पर इतिहासकारों और पुरातत्ववेत्ताओं ने इसकी प्रमाणिकता को स्वीकार  किया है |इसमें तरह - तरह के उदाहरणों से हमें बताया गया है की ईश्वर कौन है और उसे जानने का अनुभव कैसा है | बाइबल हमें जीवन और ईश्वर के बारेमें बताती है | इसमें महान संतों के अनमोल विचार है | हर विचार के गूढ अर्थ हैं | जिसकी विषद व्याख्या होती रही है | जिससे हमें न सिर्फ ईश्वर बल्कि जीवन के सार को समझने में भी आसानी होती है | तो आइये हम भी बाइबल के इन अनमोल वचनों को पढ़े व् उन पर अमल करने का प्रयास करें ...

BIBLE QUOTES AND  VERSES IN HINDI

पढ़िए -जीवन को दिशा देते बाइबल के 21 अनमोल विचार 


1)इर्ष्या और क्रोध से जीवन का क्षय होता है |

2)जो अपने आप को नर्म बनता है वही ऊँचा  उठता है |

3)मजबूत व् साहसी बने , उनकी वजह से न कभी दरें न भयभीत हों | क्योंकि परमेश्वर तुम्हारा भगवान् तुम्हारे साथ जाता है | वो न कभी तुम्हें छोड़ेगा न कभी  भागेगा |

4)मुश्किलों से भाग जाना आसान होता है | हर पहलू जिंदगी का इम्तिहान होता है | डरने वालों को कुछ नहीं मिलता , लड़ने वालों के क़दमों में जहाँ होता है |

5)बाइबल के वो भाग जिन्हें मैं नहीं समझ पाता मुझे चिंतित नहीं करते , जिन्हें समझ पाता हूँ वो चिंतित करते हैं |


क्योंकि सुसमाचार से परमेश्वर की सच्चाई उजागर होती है | एक ऐसी सच्चाई जो शुरू से अंत तक आस्था के माध्यम से है | जैसे लिखा है धार्मिक व्यक्ति आस्था से जियेगा |

6)जीता हुआ कुत्ता मरे हुए सिंह से बेहतर है |

7)चलिए सच्चे दिल और पूर्ण विश्वास जो आस्था से पैदा होता है के साथ हम ईश्वर के समीप जाए | हमारी दोषी अंतरात्मा को शुद्ध करने के लिए हमारे दिलों पर छिडकाव किया गया हो |और हमारे शरीर शुद्ध जल से धोये गए हों |

8)चखो और देखो , ईश्वर अच्छा है | धन्य हैं वो जो उसकी शरण में जाते हैं |

9)कदाचित रात को रोना पड़े | परन्तु सवेरे आनंद पहुंचेगा |

10)परमेश्वर के महान  प्रेम के कारण हम नष्ट नहीं होते |

11)चौकन्ने रहो , अपने विश्वास पर अडिग रहो , साहसी बनो मजबूत बनो |


प्रिय मित्रों मैं आपसे आग्रह करता हूँ कि विदेशियों और निर्वासितों की तरह , पापी इच्छाओं से बचे जो हमारी आत्मा के खिलाफ लड़ाई छेड़ देती हैं | 


12)ईश्वर मेरा चरवाहा है | मेरे पास किसी चीज की कमी नहीं है |

13)परन्तु मेरे लिए जो कुछ भी लाभ था अब मसीह के लिए मैं उसे हानि मानता हूँ |

14)और उससे जो मांगो वो पाओ , क्योंकि हम उसके आदेश का पाल;अन करते हैं और वो करते हैं जो उसे खुश करता है |


जीवन को दिशा देते बाइबल के 21 अनमोल विचार



15)मेरे भाइयों और बहनों जब भी तुम तमाम तरह के इम्तिहान से गुजरो , इसे पवित्र आनंद मनो , क्योंकि  तुम् जानते  हो की आस्था की परीक्षा द्रणता पैदा करती है |द्रणता को अपना काम करने दो | ताकि तुम परिपक्कव व् पूर्ण हो सको | तुम्हारे अन्दर किसी चीज की कमी न रह सके | 

16) परमेश्वर के महँ प्रेम के कारण हम कभी नष्ट नहीं होते | क्योंकि उसकी करुणा कभी खत्म नहीं होती , हर रोज नयी सुबह होती है |तुम्हारी भक्ति महान है |  


प्रिय मित्रों, अब हम सब ईश्वर की संताने हैं और हम जो होंगे वो अभी ज्ञात नहीं हो सका है | लेकिन हम जानते है कि जब मसीह प्रगट होंगे | हम उनकी तरह होंगे | क्योंकि हम उन्हें उस तरह देख पायेंगे जैसे वो हैं |

17) हम उस दौड़ को पूरी द्रणता के साथ दौड़े जो हमारे लिए निर्धारित की गयी है |

18)इसलिए क्योंकि हम गवाहों के इतने बड़े बादल से घिरे हैं | चलिए , हम वो हर एक चीज जो बाधा डालती है और उस पाप को जो हमें इतनी आसानी से उलझा देता है को फेंक दें |

19) मेरे भाइयों और बहनों मजबूती से खड़े हो जाओ , कोई भी तुम्हें हिला न सके |हमेसः खुद को पूरी तरह से ईश्वर के काम में लगा दो | क्योंकि तुम्हे पता है की ईश्वर के लिए किया गया तुम्हारा परिश्रम व्यर्थ नहीं है |

जाने जीवन को दिशा देते बाइबल के 21 अनमोल विचार 


20 ) परमेश्वर के पवित्र लोगों के साथ आपके पास समझने की शक्ति हो कि क्राइस्ट का प्रेम कितना व्यापक और दीर्घ , उच्च और प्रगाढ़ है | इस प्रेम को जानो जो ज्ञान से परे है - कि तुम ईशार की परिपूर्णता केपरिमाण जितना पूर्ण हो सकते हो | 

21)मैं इश्वर से प्रार्थना करता हूँ ताकि तुम प्रेम में निर्धारित और स्थापित हो सको | ताकि जीसस क्राइस्ट तुम्हारे ह्रदय में बस सकें |

आप सभी को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनायें |merry Christmas :)

यह भी पढ़ें .....


आपको आपको  लेख "क्रिसमस पर 15 सर्वश्रेष्ठ विचार  " कैसा लगा  | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको "अटूट बंधन " की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम "अटूट बंधन"की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें |    
                                                      



KEYWORDS:Christmas, best quotes, quotes on Bible, Bible, Merry Christmas
Share To:

atoot bandhan

Post A Comment:

0 comments so far,add yours