एनिमेटेड फिल्मों का अपना ही नशा होता है जिसके दीवाने बच्चे ही नहीं बड़े भी होते हैं | आइये जानते हैं ऐसी ही फिल्म फ्रोज़न के बारे में






फ्रोजन -एक बेहतरीन एनिमेटेड फिल्म
amazon,com से साभार
एनिमेटेड मूवीज  तकनीकी और कला का खूबसूरत मिश्रण होती है | उच्च स्तर के सोफ्टवेयर के कारण अब ये फ़िल्में बहुत ही बेहतरीन तरीके से बनायीं जाने लगी हैं | ऐसी ही फिल्म है फ्रोज़न | जो दो बहनों की की कहानी है | आइये जाने फिल्म फ्रोजन के  बारे में ...


फ्रोजन -एक बेहतरीन एनिमेटेड फिल्म 




ये कहानी है एक नार्वे के एक राज्य की राजकुमारी एलसा की जिसके पास हैं जादुई शक्ति | ये कोई मामूली जादुई शक्ति नहीं है ....वो अपने हाथों का इस्तेमाल करके ना जाने कितनी बर्फ बना सकती है | अलग -अलग आकारों में ढाल सकती है |  इस बारे में उसके माता -पिता व् छोटी बहन ऐना के अलावा  किसी को पता नहीं है |



बात उनके बचपन की है एना छोटी है वो बर्फ से खेलना चाहती है | वो सोती हुई बड़ी बहन एलसा से जिद करती है कि सुबह हो गयी है उठो और बर्फ से खेलो | एलसा मना  करती है पर बहन की जिद के आगे वो बाहर आती है | वो बर्फ से एक पुतला ओलाफ बनाती है | बर्फ की स्लाइड बनाती है झूले बनाती है और बहुत कुछ बनाकर बहन के साथ खेलती है | ऐना अभी और खेलना चाहती है तो वो बर्फ का पहाड़ बनाती है | ऐना उससे कूद कर दूसरे पहाड़ पर जाती है | इससे पहले की ऐना कूदे  वो तीसरा पहाड़ बनती है , फिर चौथा , पांचवां .... तभी उसका पैर फिसलता  है और समय पर वो ऐना के लिए अगला पहाड़ नहीं बना पाती | ऐना गिर जाती है | उसके सर में चोट लगती है ....उसका बदन ठंडा पड़ने लगता है | घबराकर एलसा अपने पेरेंट्स को बुलाती है |



एलसा के पेरेंट्स दौड़े -दौड़े आते हैं | ठंडी पड़ी हुई बेटी को देखकर माँ घबरा जाती है और रोने लगती है | पिता उसे धैर्य देते हुए कहते हैं की मुझे पता है मुझे कहाँ जाना है | वो अपने  घोड़े निकाल कर दोनों बच्चियों को लेकर ट्रॉल्स के पास जाते हैं | पश्चिमी माइथोलोगी में ट्रॉल्स का वही स्थान है जो हमारे यहाँ राक्षसों का है | ट्रॉल्स भी अलग -अलग आकार ले सकते हैं | अच्छे और बुरे हो सकते हैं | जिन्होंने हैरी पॉटर पढ़ी है वहां ट्रॉल्स डम्ब हैं वहीँ सिल्मारेलियन में ट्रॉल्स धूप  में पत्थर बन जाते हैं | इस कहानी में ट्रॉल्स एक बड़े निर्जन स्थान पर छोटे -छोटे पत्थरों की तरह पड़े रहते हैं , जो किसी के पुकारने पर अपनी इच्छा से ही बहुत छोटे कद के मोटे चेहरे ,मोटी  नाक वाले इंसानों के रूप में आते हैं |



जब ये लोग ट्रॉल्स के पास जाते हैं तो नन्हा क्रिस्टोफ अपने छोटी से स्लेज पर छोटा सा बर्फ का टुकड़ा ले कर जा रहा होता है , जिसे उसका रेनडियर दोस्त स्वान चला रहा होता है | क्रिस्टोफ बर्फ के व्यापारियों का बेटा है जो गर्मियों में ठंडे पहाड़ों पर जाकर बर्फ काटते हैं  और उसे मैदानों में बेचते हैं | क्रिस्टोफ उनके साथ जाता है , खेल कूद के साथ काम सीखता है और बर्फ के छोटे टुकड़े अपनी गाडी में लेकर आता है | क्यूंकि एलसा अपनी बहन की वजह से परेशान  है और उसकी पॉवर कंट्रोल नहीं हो रही ...तो रास्ते भर बर्फ गिरती जाती है |  उधर से आता हुआ क्रिस्टोफ बर्फ को रास्ते में गिरते हुए देख कर सहज उत्सुकतावश उस गाडी के पीछे हो लेता है |



राजा -रानी ट्रॉल्स के राजा को मदद के लिए बुलाते हैं | क्रिस्टोफ  पत्थर के  पीछे  छुप कर देखता है | ट्रॉल्स का राजा ऐना को देखता है ...वो कहता है इसके दिमाग में चोट लगी है जिसके कारण वो बर्फ में बदल रहा है ...पर ये अच्छी बात है कि चोट दिमाग  में लगी है , इसे  ठीक कर सकता हूँ , अगर यह दिल में लगी होती तो मैं ठीक नहीं कर पाता | वो उसे जादू से ठीक करता है व् साथ ही ये सारे वाकये उसके दिमाग से निकाल देता है बस उस आनंद  को रहने देता है | राजा  -रानी एलसा के बारेमें पूछते हैं तो वो बताता हैकि एलसा सामान्य बच्ची नहीं हैं उसके पास बर्फ बनाने की पॉवर है .... वो कुछ भी बना सकती है ...परन्तु समस्या के है कि वो शुरू तो कर सकती है पर रोक नहीं पाती ...खासकर तब जब वो इमोशनल हो ( सुख या दुःख ) या भयभीत हो | इसे अपनी पॉवर को कंट्रोल करना सीखना होगा नहीं तो इससे भारी नुक्सान  हो सकता है |


राजा -रानी और एलसा डर जाते हैं |वो महल में आकर महल के सारे खिड़की दरवाजे बंद कर देते हैं | एलसा औरऐना  को दूर करने के लिए एलसा को अपने कमरे से बाहर जाने की इजाजत नहीं होती | एलसा के अन्दर भी भय है  कि कहीं फिरसे उसकी बहन को नुक्सान ना हो जाए तो बहन के बार -बार दरवाजा खटखटा कर बुलाने पर भी वो नहीं निकलती | उसका भय बढ़ने लगता है जिसके कारण उसकी पॉवर भी नियंत्रण के बाहर होने लगती हैं | उसके बंधन और बढ़ा दिए जाते हैं |  माता -पिता बार -बार हिदायत अपने इमोशन पर कंट्रोल रखो , डर पर कंट्रोल रखो , कोशिश करो | ये कोशिशे उसे और भयभीत करती हैं | अब वो जिस चीज को छूती है वही चीज पर बर्फ बनने लगती है | उसे हाथों के दस्ताने पहना दिए जाते हैं |



समय बीतता है | बहने बड़ी होती हैं | जब एलसा  15 साल की होती है तो उसके माता -पिता को कहीं जाना पड़ता है | वो एलसा को खुद पर कंट्रोल करने को कहते हैं | एलसा  उन्हें आश्वासन देती है | यात्रा में उनका जहाज डूब जाता है | इस दुःख की घड़ी में ऐना , एलसा से दरवाजा खोलने की गुज़ारिश करती है पर वो नहीं मानती | अकेले रह -रह कर उसका भय बढ़ रहा है और उसकी शक्तियाँ भी ...



तीन साल बीत जाते हैं ... एलसा १८ की हो जाती है ...आज उसका राजतिलक होगा और उसे रानी घोषित किया जाएगा | आज वो पहली बार अपने कमरे के बाहर निकलेगी , वो बहुत डरी हुई है | उधर ऐना बहुत खुश है | वो जल्दी तैयार होती है | महल के सारे सरे दरवाजे खोल दिए गए हैं | वो ख़ुशी -ख़ुशी गीत गाते -गुनगुनाते आम लोगों से मिलने निकल पड़ती है | वहीँ उसकी मुलाकात एक व्यक्ति हांस से होती है जो अपनी पहचान नार्वे के ही एक छोटे राज्य के राजकुमार के रूपमें देता है | वो दोनों दिन भर साथ घूमते  हैं | एना उसकी  ओर आकर्षित होती है | छोटी सी दोस्ती प्रेम में बदल जाती है |



शाम को जब एलसा को मुकुट पहनाया जाना होता है तो वो डरी हुई होती है कि कहीं सब बर्फ न बन जाए | वह बहुत मानसिक तैयारी करती है कि उसे  डरना या घबराना नहीं है | हाथों में वो दस्ताने पहन लेती है ताकि वो कुछ छुए नहीं | उसे मुकुट पहना दिया जाता है | पार्टी चल रही होती है | पार्टी में ही ऐना , एलसा को हांस से मिलवाती है और कहती है कि वो हांस से प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है | एलसा  विरोध करती है कि एक दिन में उसे प्यार कैसे हो गया , वो इतनी जल्दी शादी की इज़ाज़त नहीं दे सकती | ऐना और एलसा में विवाद होता है और उसमें एलसा के हाथ से दस्ताना निकल जाता है | घबराहट में उस से भावनाओं का कंट्रोल नहीं होता | वो जैसे ही हाथ उठाती     है इधर -उधर बर्फ जमने लगती है | लोग घबराहट में भागने लगते हैं | उन्हें लगता है कि एलसा कोई राक्षस  है |


एलसा घबराहट में सब कुछ जमाती चली जाती है | और जंगल की तरफ भाग जाती है | नदियाँ , पहाड़ , घर सब जम जाते हैं | समर में विंटर आ जाता है | लोग त्राहि -त्राहि करने लगते है | ऐना को अपनी गलती समझ आती है उसे तो एलसा के इस चमत्कारिक शक्ति की जानकारी ही नहीं थी | बचपन की उसकी यादे  मिटाई जा चुकी थीं | उसे दुःख होता है कि उसकी वजह से उसकी राज्य की ये दशा हो गयी | वो अपनी बहन वापस लाकर देश को ठीक करने की जिम्मेदारी लेती है | राज्य का उत्तरदायित्व हांस पर छोड़कर वो अकेली अपनी बहन की खोज में निकल पड़ती है |


उधर ऐलसा उत्तरी पर्वत श्रृंखला की ओर चल देती है | पहले तो वो बहुत दुखी होती है , फिर उसे महसूस होता है कि अब वो आज़ाद है | बचपन से लेकर अभी तक उसे बस अपने पर कंट्रोल  रखने की हिदायत दी गयी थी | ये करो , ये ना करो , फीलिंग्स को कंट्रोल  में रखो , इमोशंस को कंट्रोल  में रखो | घर से बाहर मत निकलो , दस्ताने पहनों आदि -आदि | वो सोचती है कि चलो अच्छा हुआ जो अब वो यहाँ रहेगी और सपनी इच्छा से रहेगी | भय हटते ही उसका बर्फ बनाने पर कंट्रोल  आ जाता है | सबसे पहले वो बर्फ का पुतला ओलाफ बनती है जो उसकी शक्ति से बोलता भी है| फिर उत्तरी सिरे पर एक पहाड़ के पास जाती है पहाड़ से ठीक पहले घाटी  है |  पर वो उस घाटी से पहाड़ तक सीढियाँ बनाती है | सीढ़िया  से  पहाड़ पर जाती है और वहां बर्फ का महल बनाती है | और वहीँ रहने लगती है |


फ्रोजन -एक बेहतरीन एनिमेटेड फिल्म



इधर ऐना बहुत मुश्किलों से उसे ढूढ़ते -ढूंढते आती है | सर्दी में वो लगभग जमी जा रही है | तभी उसे एक शेल्टर होम दिखता है | वहां जा कर वो गर्म कपड़ों की माँग करती है | तभी वहां क्रिस्टोफ  आता है वो बर्फ का व्यापारी है जो गर्मियों में पहाड़ों से बर्फ काट कर मैदानों में बेचने के लिए ले जाता है | उसके पास स्लेज है | वह  रेनडियर के लिए गाजर कुछ  खाने का सामान लेने आता है | मोलभाव के दौरान उसका झगड़ा शेल्टर होंम  के मालिक से हो जाता है , जो उसे घर से बाहर फिकवा देता है |वो वापस अपने तम्बू में चला जाता है | एना उससे मदद की आशा में उसकी रेनडियर के लिए खाने का सामान ले कर जाती है व् उससे मदद माँगती है | क्रिस्टोफ तैयार हो जाता है | रास्ते में तरह -तरह की मुश्किलें आती हैं और क्रिस्टोफ हर तरह से उनकी मदद  करता है | इसके चक्कर में उसकी स्लेज भी जल जाती है | इस बीच क्रिस्टोफ ऐना से कहता है कि तुम्हारी बहन सही है , तुम दस मिनट में किसी को जज नहीं कर सकतीं , प्रेम तो दूर की बात है |  चलते -चलते वो उत्तरी पहाड़ के पास आ जाते हैं | वहां ओलाफ मिलता है | वो उन्हें सीढ़ियों व् महल के बारे में बताता है |


वो सब ऊपर पहुँचते हैं | एलसा आने से इनकार कर देती है | तेजी से बर्फ बनाने के कारण उसकी कुछ पॉवर  ऐना के दिल पर लग जाती हैं | क्रिस्टोफ ऐना को बचाते हुए वापस आने लगता है | रास्ते में ऐना को वो अपने दोस्तों के बारे  में बताता है | ऐना उसके दोस्तों से मिलने की इच्छा जाहिर करती है | वह उन्हें ले जाता है | उसके दोस्त कोई और नहीं ट्रोल्स हैं | थोड़ा हँसी मजाक चल ही रहा होता है कि ऐना की तबियत बिगड़ने लगती है | ट्रोल्स  का बूढा राजा  उसे पहचान लेता है | वह कहता है कि मैंने पहले ही कहा था कि दिल पर अगर चोट लगेगी तो मैं बचा नहीं पाउँगा | क्रिस्टोफ दुखी हो जाता है वो ऐना को  बचाने का कोई और उपाय पूछता है | ट्रोल सरदार बताता है कि ऐना ने जमना शुरू कर दिया है | धीरे -धीरे इसका दिल भी जम जाएगा | केवल "act of true love " इसे बचा सकता है |


क्रिस्टोफ  जो ऐना से प्रेम करने लगा है उसे बचाने के लिए हांस  के पास ले जाने लगता है | इधर बहन के लिए व्याकुल एलिसा पर सैनिक आक्रमण कर देते हैं और उसे ले जाकर जेल में डाल देते हैं | क्रिस्टोफ ऐना को महल के दरवाजे पर छोड़ कर चला जाता है | हांस से ऐना कहती है कि वो मरने वाली है | केवल "act of true love " ही उसे बचा सकता है | इसलिए वो जल्दी से उसे kiss  करे | हांस  ये सुनकर खुश हो जाता है |वो किस करने से मना कर देता है और एलिसा को मोंस्टर बताते हुए उसका वध करने चल देता है | वो जानता है कि दोनों बहनों के ना रहने पर ये राज्य उसे ही मिलेगा |


ये बात ओलाफ किसी तरह से क्रिस्टोफ को बता देता है | क्रिस्टोफर बिजली की गति से आने लगता है | घबराई ऐना महल छोड़कर बाहर आ क्रिस्टोफ की तरफ जाने लगती है | एक दृश्य ऐसा आता है कि ऐना बिकुल मरने वाली है  और वो ऐसी जगह पर खड़ी है कि एक तरफ क्रिस्टोफ है और दूसरी तरफ हांस उसकी बहन का वध करने जा रहा होता है | एक -एक पल महत्वपूर्ण है | ऐना, क्रिस्टोफ की kiss से अपना जीवन बचा सकती है पर वो अपनी बहन की तरफ दौड़ती है और पूरी जम जाती है | उससे टकरा कर हांस की तलवार टूट जाती है और वो झटके से दूर गिर जाती है |


एलसा रोने लगती है |

पर थोड़ी देर में आइना वापस  जीवित हो जाती है |

दरअसल अपनी बहन के प्रति उसका "act of true love " उसकी भी जान बचाता है व् उसकी बहन की भी |

हांस को देश निकाला मिलता है और एलसा को समझ आ जाता है कि भय नहीं केवल " true love " ही उसकी पॉवर को कण्ट्रोल कर सकता है | वो बहुत प्यार से अपने किंगडम को देखती तो सारी  बर्फ पिघल जाती है | वसंत आ जाती है और वो रानी बन अपना राज्य संभाल लेती है |

और बहुत की खूबसूरत मोड़ पर कहानी खत्म हो जाती है |


फिल्म के गीत बेहद शानदार है | जिसमें let it go को ऑस्कर भी मिल चुका है | अगर आप एनिमेटेड मूवीज को पसंद  करते हैं तो ये फिल्म आपको जरूर देखनी चाहिए |

फ्रोज़न -एनिमेटेड 3D Movie

निर्माता -वाल्ट डिज्नी एनिमेटेड स्टूडियो



अटूट बंधन

आपको  फिल्म समीक्षा    "फ्रोजन -एक बेहतरीन एनिमेटेड फिल्म  " कैसी लगी   | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको "अटूट बंधन " की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम "अटूट बंधन"की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें 
filed under -film review, disney movies, frozen, olaf, animated movies

Share To:

Atoot bandhan

Post A Comment:

1 comments so far,Add yours