सिर्फ 15 मिनट

5
                             

सिर्फ 15 मिनट -power of delayed gratification

आजकल बस” दो मिनट “के जमाने में सिर्फ १५ मिनट साल भर लम्बा लग रहा होगा | पर ये सिर्फ 15 मिनट वैज्ञानिकों द्वारा छोटे बच्चों पर किये गए शोध का नतीजा हैं जो आगे जा कर यह तय करते हैं कि बच्चे की शिक्षा , स्वास्थ्य व् सफलता कैसी रहेगी | तो आइये जाने सिर्फ 15 मिनट का राज

सिर्फ  15 मिनट और सफलता /role of delayed gratification

                               बहुत पहले की बात है अमेरिका में एक प्रयोग किया गया | जिसमें  छोटे बच्चों को अकेले बारी -बारी से  एक कमरे में भेजा गया ,जहाँ उनकी फेवरेट चॉकलेट रखी थी | साथ में कुछ पजल गेम  भी रखे थे | बच्चों से कहा गया कि आप एक चॉकलेट अभी ले लो, या फिर अगर आप 15 मिनट वेट कर सकते हो तो 15 मिनट बाद आप दो चॉकलेट  ले सकते हैं |  कुछ बच्चों से तो बिलकुल भी धैर्य नहीं हुआ उन्होंने तुरंत चॉकलेट ले ली | और खा भी ली , कुछ ने थोड़ी देर रुक कर खायी | कुछ बच्चे थोड़ी देर अपने को इधर-उधर उलझाए रखे फिर 15 मिनट से पहले ही बस एक चॉकलेट ले ली | पर कुछ बच्चे पूरे 15 मिनट तक कमरे में इधर उधर दौड़ते रहे , कुछ खेलते रहे या पज़ल सॉल्व  करते रहे पर उन्होंने कैसे भी कर के वो 15 मिनट पार कर दिए | उसके बाद उन्हें दो चॉकलेट मिलीं |

आप सोच रहे होंगे बात तो छोटी सी  है | इससे क्या फर्क पड़ता है बच्चों ने तुरंत चॉकलेट ले ली या 15 मिनट बाद ली | परन्तु यही प्रयोग का हिस्सा था | उन बच्चों को निरंतर ऑब्जर्व किया गया | करीब २५ साल बाद ये निष्कर्ष निकाला गया किजिन बच्चों ने तुरंत चॉकलेट ले ली थी उनकी तुलना में जिन बच्चों ने 15 मिनट इंतज़ार किया था उनके पढाई में मार्क्स अच्छे आये , स्वास्थ्य अच्छा रहा व् रिश्ते अच्छे रहे व् उन्होंने जीवन में अधिक सफलता पायी |

ये 15 मिनट का प्रयोग एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रयोग था जो यह बताता हैं  कि जब हम किसी किसी मनपसंद  काम से खुद को डिस्ट्रेक्ट कर पाते हैं तभी हम लॉन्ग टर्म गोल को पा पाते हैं | ये लॉन्ग टर्म गोल हमारा स्वास्थ्य है , रिश्ते हैं , शिक्षा है व् सफलता है | इसे delayed gratification भी कहते हैं |

जानिये सिर्फ 15 मिनट कैसे आपको पीछे खींचते हैं 

अब मान लीजिये कि आप क्लास में वार्षिक परीक्षा में प्रथम स्थान पाना चाहते हैं | इसके लिए आप को साल भर कम से कम चार घंटे रोज पढना होगा | बीच में कई बार मेहमान घर आयेंगे , कभी सब दोस्त लेटेस्ट मूवी देख रहे होंगे या कभी आपका फेवरेट क्रिकेट मैच टी . वी पर आ रहा होगा | आप चार घंटे तभी पढ़ पायेंगे जब आप इन डिस्ट्रेक्ट करने वाली चीजों से अपना ध्यान हटा पायेंगे | अगर आप मनपसन काम को करने लगेंगें तो आप चार घंटे रोज पढने का लक्ष्य पूरा नहीं कर पायेंगे |

या फिर आपको किसी रिश्तेदार की बात बुरी लगी आपने तुरंत ही उसे जा कर खूब भला बुरा सुना दिया , बाद में आपको पता चला कि आपके समझने में गलती हुई थी | आप लाख सॉरी बोले अब वो रिश्ता पहले जैसा नहीं रहेगा | याद रखिये अच्छे रिश्ते भी हमारा लॉन्ग टर्म बांड होते है | टूटे लव बांड के साथ जिन्दगी बहुत मुश्किल होती है |

या आप वेट लॉस  की तैयारी कर रहे हैं | अब आपके सामने आपकी मनपसंद डिश  गाज़र का हलुआ आती है  अगर आप खुद पर कंट्रोल नहीं कर पायेंगे तो आप  निश्चित रूप से  कटोरी भर हलुआ खा ही लेंगे और आप की कई दिनों की मेहनत  पर पानी फिर जाएगा |

ज्यादातर वही लोग सफल हुए हैं जिन्होंने सफलता के लॉन्ग टर्म प्लान बनाए हैं | उसके लिए उन्होंने लम्बे समय तक फ्री में काम किया है |  अनुभव प्राप्त किया है , और शुरू पर पैसों पर बिलकुल फोकस नहीं किया है | जाहिर है की ज्यादातर काम पैसे कमाने के लिए ही किये जाते हैं |  परन्तु जो लोग शुरू से पैसे पर फोकस करते हैं वो एक काम को ज्यादा दिन तक नहीं कर पाते और कोई दूसरा काम शुरू कर देते हैं , जिस कारण वो पैसे तो कमाने लगते हैं पर उन्हें बड़ी सफलता नहीं मिलती |

कैसे करे खुद पर कंट्रोल 

खुद पर कण्ट्रोल करने के कुछ तरीके हैं , जिन पर हम बारी -बारी से चर्चा करेंगे | 

खुद को डिस्ट्रेक्ट करें 


                           आप को बस वही करना है जो बच्चों ने किया था |  यानि  की आप  को अपने मनपसंद काम को करने से रोकना है | बच्चों ने चॉकलेट खाने से अपने को रोकने के लिए पज़ल खेली थी , दौड़ लगायी थी या कुछ और किया था | अब किसी भी तरीके से आप को भी डिस्ट्रेक्ट करना है …

जैसे अभी आप का मन गाज़र का हलुआ खाने का हो रहा है तो आप खुद  को डिस्ट्रेक्ट करने के लिए वाक् पर चले जाए , कुछ व्यायाम  करलें , किसी सहेली से फोन कर लें या फिर कोई हल्का स्नैक जैसे मुरमुरे , खीरे  , ककड़ी आदि खा लें , जिससे आपकी हलुआ खाने की इच्छा खत्म हो जाए |

तीन  गेंदों में छिपा है आपकी ख़ुशी का राज 

आपका गोल है कि साल में आपको १लाख २० हज़ार रुपये बचा कर  किसी स्कीम में डालने हैं | यानी आपको हर महीने १०, ००० रूपये बचाने हैं | ऐसे में आप को खुद को छोटी -छोटी चीजें खरीदने से रोकना है  |  तो ऐसी मार्किट जाने से बचे जहाँ वो चीजें मिलती हैं | अगर जरूरी काम से जाएँ तो उन दुकानों से बच कर रहे | टी वी के ऐड न देखे ताकि बार -बार मन न चले |

अपने को सही रीजन बताये 

                            जब आप किसी लॉन्ग टर्म गोल को प्राप्त करने के लिए मेहनत कर रहे हों और आप को टेम्परेरी टेम्पटेशन को हराना हो तो आपको सही रीजन देना होगा | जैसे आप वेट  लॉस करना चाहते हैं और अपने से यह कहते हैं कि मैं अपनी सहेलियों को वजन घटा कर दिखा दूँगी तो ये बहुत काम नहीं करेगा उसके स्थान पर अगर आप कहेंगीं कि मैं वजन इसलिए घटाना छाती हूँ ताकि मैं स्वस्थ  रहूँ और एक बेहतर जिन्दगी जी सकूँ |

आप स्टूडेंट हैं तो रीजन दीजिये कि मेडिकल या इंजिनीयरिंग एंट्रेंस की  तैयारी इस लिए कर रहे हैं क्योंकि आप अपना ड्रीम जॉब करना चाहते हैं | अगर आप ये सोच कर पढ़ रहे हैं की मम्मी की इच्छा है तो आप ज्यादा घंटे पढ़ नहीं पायेंगे और क्रिकेट मैच आपका ध्यान खींच ही लेगा |

अपने को इनाम दें 

                           अपने लॉन्ग टर्म गोल को अचीव करने के लिए बीच -बीच में खुद को इनाम दें | जैसे …

अगर आप ने आज की चार घंटे की पढाई पूरी कर ली है तो क्रिकेट या कोई और पसंद का शो देख लें |

आप का वेट लॉस प्रोग्राम सही जा रहा है तो  महीने में एक बार अपनी मनपसंद  डिश खा लें |

 या फिर जब आपने पैसे बचाने का गोल पूरा कर लिया हो  किसी मनपसंद जगह घूम आइये , कोई मनपसंद ड्रेस ले लीजिये या कोई मनपसंद  होटल में डिनर कर लीजिये |

आज के समय में बहुत जरूरी है delayed gratification


यूँ तो ये लेख delayed gratification पर हुए प्रयोग पर ही आधारित है | क्योंकि वेट लॉस , ज्यादा देर तक पढना , पैसा सही जगह इन्वेस्ट करना ये सब सफल जीवन  के लिए जरूरी हैं | परन्तु ये सब इतने आसान  नहीं हैं इसके लिए मन को अपने लक्ष्य पर केंद्रित करना बहुत  जरूरी है | ये तभी हो पायेगा जब हम  मनपसंद काम को करने से खुद को रोक कर जरूरी लक्ष्य पर फोकस्ड   रहे | आज के समय में जब एक क्लिक  पर मनोरंजन , बढ़िया खाना और मनी ट्रांसफर हो सकता है तो खुद को सिर्फ 15 मिनट भी  रोक पाना बहुत मुश्किल है | परन्तु खास बात ये है कि जब सब खुद को रोक पाने में असफल हैं और आप ऐसा कर पाते हैं तो सेहत , शिक्षा और सफलता को आपकी मुट्ठी में करने से कोई नहीं रोक सकता |

तो आज आपने कुछ अच्छा पाने के लिए खुद को कितनी देर डिस्ट्रेक्ट किया ?

वंदना बाजपेयी 
यह भी पढ़ें …

संकल्प लो तो विकल्प न छोड़ो

समय पर निर्णय का महत्व

समय पर काम शुरू करने के लिए अपनाइए 5 second rule

खुद को अतिव्यस्त दिखाने का मनोरोग


क्या आप अपनी मेंटल हेल्थ का ध्यान रखते हैं


आपको सिर्फ 15 मिनट -power of delayed gratificationकैसे लगा  अपनी राय से हमें अवगत कराइए | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको अटूट बंधन  की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम अटूट बंधनकी लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें |

filed under- Delayed gratification, Success, long term goal, happy life

5 COMMENTS

  1. सफलता पाने के लिए ये छोटे छोटे टिप्स बहुत काम आएंगे। बहुत उपयोगी जानकारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here