प्राचीन भारतीय "योग " को आज पूरा विश्व अपना रहा है | 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है ताकि लोग इसे अपना कर स्वस्थ जीवन की ओर अग्रसर हों |


योग दिवस


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (21 जून ) का उद्देश्य है की लोगों को स्वस्थ जीवन शैली के लिए योग अपनाने की प्रेरणा दी जाए | हम सभी  प्राचीन भारतीय 'योग 'को अपना कर स्वस्थ जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करना चाहिए | 

कविता -योग दिवस


स्वस्थ
यदि रहना है तो
जीवन में
योग अपनाओ
इसको जीवन अंग बना कर
रोगों को दूर भगाओ
स्वस्थ शरीर में
स्वस्थ मन का
जब निवास होगा
स्वस्थ विचारों
सद्कर्मों का
अजस्र प्रवाह बहेगा
स्वयं करना
औरों को भी प्रेरित करना
जब सबका
लक्ष्य बनेगा
तभी देश का हर जन
स्वस्थ सुखी बन
नव उपमान गढ़ेगा
ब्रह्म मुहूर्त में 
उठ,  स्नान-ध्यान कर
सूर्य नमस्कार करने का
पक्का नियम बनाएँ
योग करें और 
रोज़ करें
अपना यह
धर्म बनाएँ
स्वस्थ निरोगी 
काया लेकर
कर्म करें कुछ ऐसे
घर, समाज और देश
सभी गर्वित हों जैसे
योग
स्वास्थ्य-प्रसन्नता 
की कुंजी है
सबको यह समझना है
स्वस्थ नागरिक
बन हम सबको
राष्ट्र-निर्माण में
जुट जाना है।
------------------------


डॉ . भारती वर्मा 'बौड़ाई '

यह भी पढ़ें ........








आपको    "  योग दिवस  " कैसा लगा    | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको "अटूट बंधन " की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम "अटूट बंधन"की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें |


filed under: international yoga day, yoga, 21 june
Share To:

atoot bandhan

Post A Comment:

0 comments so far,add yours