जब जनरल मोटर्स की कार को हुई वैनिला आइसक्रीम से एलर्जी

2
94

जब जनरल मोटर्स की कार को हुई वैनिला आइसक्रीम से एलर्जी

अमेरिका की जनरल मोटर्स कंपनी अपनी श्रेष्ठ कारों के लिये प्रसिद्ध हैं कस्टमर सेटिस्फेक्शन उनका मुख्य उद्देश्य रहा है  |किसी भी कस्टमर की शिकायत पर वो सबसे पहले  ध्यान देते हैं ,परंतु एक बार शिकायत ऐसी आयी की उन्हें वो शिकायत नहीं मज़ाक लगा |पर वो वास्तव में शिकायत थी |आइये जानते हैं उस रोचक शिकायत और उसके हल का पूरा किस्सा … 

जनरल मोटर्स की कार को हुई वैनिला आइसक्रीम से एलर्जी 

   एक बार की बात है अमेरिका की प्रसिद्द जेनरल मोटर्स को इ मेल पर एक शिकायत मिली | शिकायत बहुत अजीब थी | शिकायत कर्ता ने लिखा था कि आप की गाडी को वैनिला आइस क्रीम से एलर्जी है क्या ?  
कंपनी को ये मज़ाक लगा | उन्होंने शिकायत को नज़र अंदाज़ करने की सोची | कुछ दिन बाद फिर वही ईमेल आया ,”कृपया बताएं आपकी कंपनी की कारों को वैनिला आइस क्रीम से कुछ एलर्जी है क्या? कस्टमर पर बहुत ध्यान देने की अपनी नीति के चलते इस बार की शिकायत  की उन्होंने अनदेखी नहीं। की ,तुरंत उस व्यक्ति को ईमेल किया गया कि आपको ऐसा क्यों लगता है उस व्यक्ति ने कहा कि मैं रोज रात को डिनर के बाद अपनी फैमिली को कार से पास की आइस क्रीम शॉप में ले जाता हूँ ,हम हर रोज अलग़ अलग फ्लेवर की आइस क्रीम खाते हैं |   आश्चर्य की बात है कि जिस दिन हम वैनिला आइस क्रीम खाते हैं तो कार स्टार्ट होने का नाम ही नहीं लेती है | ऐसा एक बार नहीं कई बार आज़माया है |तभी मैंने आपसे पूंछा कि आपकी कंपनी की कार को वैनिला आइसक्रीम से कुछ एलर्जी है क्या ?

जब वैनिला की एलर्जी पर विचार को जेनेरल मोटर्स ने भेजा इंजिनीयर 

अब कंपनी को समस्या गंभीर लगी ,उन्होंने मीटिंग बुलाई ,विचार विमर्श किया व् एक सीनियर इंजिनीयर को उसके घर के पास भेजा गया ,ताकि सच्चाई जान सकें|
उस रात खाना खाने के बाद वो लोग फिर आइसक्रीम खाने गए पर इस बार गाड़ी इंजिनीयर चला रहा था| वो लोग आइसक्रीम की दुकान तक गए ,उनहोंने चॉकलेट आइसक्रीम  ली ,गाडी स्टार्ट की और गाडी फुर्र से चल दी | दूसरे दिन फिर वो लोग आइसक्रीम शॉप पर गए , उन्होंने मैंगो फ्लेवर की आइसक्रीम ली और कार स्टार्ट की और फिर चार फुर्र से स्टार्ट हो गयी | अभी तक कोई समस्या दिख ही नहीं रही थी |

भगवान् बुद्ध से तीन प्रश्न -चाइना की प्रेरणादायक लोककथा

अब तीसरे दिन उन लोगों ने वैनिला आइस क्रीम ली , गाडी में बैठे उसे स्टार्ट करने की कोशिश की और कार है कि स्टार्ट होने का नाम ही न लें | कितनी जद्दोजहद की पर कार काफी देर बाद ही स्टार्ट हो पायी | ऐसे में उस व्यक्ति का ये समझना कि कार को वैनिला आइस क्रीम से एलर्जी है , गलत नहीं कहा जा सकता | पर क्या कोई इंजिनीयर ऐसा सोच सकता है | जाहिर सी बात है उसे समस्या का हल ढूंढना था क्योंकि वो जानता था कि भला कार  को भी कहीं एलर्जी हो सकती है |

इंजिनीयर ने ढूँढा एलर्जी का समाधान 

                                    उनलोगों को छोड़ कर इंजिनीयर वापस वहीं आ गया और समस्या पर सोचने लगा | अन्तत : उसे हल मिल गया | दरसल उस आइस क्रीम शॉप में बहुत भीड़ रहती थी | यूँ तो उसकी सब आइसक्रीम बिकती थी पर  वैनिला आइसक्रीम सबसे ज्यादा बिकती थी | इस कारण शॉप कीपर ने वैनिला आइसक्रीम का एक अलग काउंटर काफी  आगे खोल दिया जिससे ग्राहकों को आसानी से अपनी मंपसद आइसक्रीम मिल जाए और उन्हें हर प्रकार के फ्लेवर की चाहत रखने वालों से जूझना न पड़ें |

                                इस बात पर ध्यान जाते ही इंजिनीयर का ध्यान इस बात पर भी गया कि वैनिला का वो काउंटर कार पार्किंग के बहुत पास है | जल्दी से आइसक्रीम मिल जाने और उसे कार तक जल्दी से ले आने में बहुत कम समय लगता था , जबकि दूसरे फ्लेवर की आइसक्रीम लाने में ज्यादा समय लगता था | अब इंजिनीयर को पूरी बात समझते देर न लगी |

दरअसल कार को बंद करने के बाद जल्दी स्टार्ट करने पर वो इसलिए स्टार्ट नहीं होती थी क्योंकि  उसका इंजन जल्दी ठंडा नहीं हो पाता था | उसमें हीट ऐब्जोर्ब करके उसे जल्दी ठंडा करने के लिए कोई टेक्नीक इस्तेमाल करना बहुत जरूरी था |

इंजिनीयर ने ये समस्या कंपनी में जा कर बताई | इस पर काम शुरू हुआ और  कार का इंजन जल्दी ठंडा होने की तकनीक विकसित की गयी |

फिर वैनिला आइसक्रीम से कार की एलर्जी भी खत्म हो गयी | 

अंधविश्वास की जगह ढूँढें समाधान  

दोस्तों इस कहानी में सबसे मजेदार शिक्षा ये मिलती है कि अकसर हम ऐसी बैटन में अन्धविश्वास के शिकार हो जाते हैं | ऐसे में या तो हम वैनिला आइसक्रीम खाना छोड़ देते या कार को बेंच कर कोई दूसरी कार खरीदते क्योंकि हमें लगता कि चार पर कोई भूतिया असर हैं जिस कारण वो अजीब व्यवहार कर रही है | इंजिनीयर ने जैसे उस समस्या को गहराई से सोचा और उसका सामाधान निकाला हमें भी अन्धविश्वास की जगह वजह खोजने पर काम करना चाहिए |

अटूट बंधन परिवार

तीन गेंदों में छिपा है आपकी ख़ुशी का राज


समय पर निर्णय का महत्व


प्रश्नपत्र


शब्दों के घाव

आपको    जब जनरल मोटर्स की कार को हुई वैनिला आइसक्रीम से एलर्जी   कैसी लगी   | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको “अटूट बंधन “ की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम “अटूट बंधन”की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें |

filed under- free read,  stories,stories in Hindi, motivational stories in hindi, Superstition

2 COMMENTS

  1. इंजीनियर दिमाग ही समस्या का समाधान खोज सकता हैं। ज्यादातर आम लोग तो अंधविश्वास से जकड़े होने के कारण ज्यादा कुछ सोचते ही नहीं। विचारणीय एवं प्रेरणादाई आलेख।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here