सावन अट्ठारह साल की लड़की है

1
10
सावन अट्ठारह साल की लड़की है





कविता के सौदर्य में उपमा से चार -चाँद लग जाते हैं | ऐसे में सावन की चंचलता , अल्हड़ता , शोख नजाकत भरी अदाएं देख कर क्यों न कवि उसे १८ साल की लड़की समझ बैठे | आइये पढ़ें एक रिमझिम फुहारों में भीगी सुन्दर कविता




सावन अट्ठारह साल की लड़की है


सावन———–
सीधे-साधे गाँव की,
एक अट्ठारह साल की लड़की है.
भाभी की चुहल और शरारत,
बाँहों मे भरके कसना-छोड़ना,
एक सिहरन से भर उठी——-
वे सुर्ख से गाल की लड़की है.
सावन——–
सीधे-साधे गाँव की,
एक अट्ठारह साल की लड़की है.
वे उसका धान की खेतों से तर-बतर,
बारिश मे भीगते हुये,
घर की तरफ लौटना,
और उस लौटने मे उसके,
पाँव की सकुचाहट,
उफ! गाँव मे सावन——–
बहुत ही मादक और कमाल की लड़की है.
सावन———
सीधे-साधे गाँव की,
एक अट्ठारह साल की लड़की है.
न शायर,न कवि, न नज़्म, न कविता
वे उर्दू और हिन्दी दोनो से कही ऊपर,
किसी देवता,फरिश्ते के हाथ से छुटी,
इस जमीं पे उनके——–
खयाल की लड़की है.
सावन———-
सीधे-साधे गाँव की,
एक अट्ठारह साल की लड़की है.

@@@रचयिता—–रंगनाथ द्विवेदी.
जज कालोनी, मियाँपुर
जिला—जौनपुर–222002 (उत्तर-प्रदेश).



atootbandhann.com पर रंगनाथ दुबे की रचनाएँ पढने के लिए क्लिक करें –रंगनाथ दुबे




कवि

यह भी पढ़ें …


सुई बन , कैंची मत बन


संबंध


गीत -वेग से भ रहा समय


नए साल पर पांच कवितायें




आपको       गीत सम्राट कवि नीरज जी के प्रति श्रद्धांजलि    | अपनी राय अवश्य व्यक्त करें | हमारा फेसबुक पेज लाइक करें | अगर आपको “अटूट बंधन “ की रचनाएँ पसंद आती हैं तो कृपया हमारा  फ्री इ मेल लैटर सबस्क्राइब कराये ताकि हम “अटूट बंधन”की लेटेस्ट  पोस्ट सीधे आपके इ मेल पर भेज सकें | 
filed under: Rainy Season, rain, savan, young girl, poem in Hindi

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here